जनता कर्फ्यू


0

      तारीख 19 मार्च, 2020. समय रात 8 बजे | भारत के प्रधानमन्त्री जी ने टेलीविज़न पर आकर दुनिया भर में फ़ैल रही कोरोना महामारी से जंग लड़ने […]

Read More

नास्तिकता व धर्म के प्रति भगत सिंह के विचार


1 comment

अधिकांश लोग भगत सिंह को सिर्फ एक जोशीले क्रांतिकारी के रूप में जानते है| लेकिन भगत सिंह एक बहुत बड़े विचारक भी थे| भगत सिंह ईश्वर में विश्वास नहीं रखते […]

Read More

शहीद भगत सिंह के क्रांतिकारी विचार


0

    शहीद भगत सिंह एक आदर्श क्रांतिकारी थे| वे लेनिन से अत्यधिक प्रभावित थे| वे समाजवाद में विश्वास रखते थे| भगत सिंह सामाजिक और आर्थिक विषमताओं को सभ्यता के […]

Read More

धार्मिक अन्याय


0

    यदि आप सामाजिक न्याय, आर्थिक न्याय, और राजनैतिक न्याय कि अभिलाषा रखते हैं तथा साथ ही आप धार्मिक प्रवृत्ति के हैं तो आपके द्वारा न्याय कि उम्मीद करना बेमानी है| क्योकि सामाजिक, […]

Read More

आजादी


0

  प्रतिवर्ष 15 अगस्त का दिन हर भारतीय के लिये बहुत ख़ास होता है| हर भारतीय इस दिन का बड़ी बेसब्री से इंतज़ार करता है क्योकि 15 अगस्त 1947 को भारतवासियों को […]

Read More

जो धर्म आपको नीच कहता हो, उसे लात मार दो


2 comments

“जो धर्म आपको नीच कहता हो उसे लात मार दो”| पर कैसे ? हजारों सालो से जो धर्म हमारे जीवन का हिस्सा है क्या उस धर्म पर लात मारना इतना […]

Read More

महाभारत – महिला सम्मान या जुए का परिणाम


0

महाभारत एक काल्पनिक घटनाओं पर आधारित महाकाव्य है| जिसने भी यह महाकाव्य पढ़ा है या सुना है उनके मन में ये कुछ सवाल जरुर उठते होंगे| जैसे – क्या महाभारत […]

Read More

नास्तिक


0

नास्तिक होने का अर्थ सिर्फ ‘ईश्वर को ना मानना’ नहीं है बल्कि जो मनुष्य किसी सर्वशक्तिमान पर विश्वास करने के बजाय स्वयं पर विश्वास करता हो, यथार्थवादी हो, तार्किक हो, […]

Read More